Shayari

Shayari

जिंदगी की उलझनों में हम परेशान बहुत हैं, ऐसे न तड़पाओ दिल को ये नादान बहुत है, नज़रों के सामने आकर अनदेखा करते हुए गुजर जाना, वादा करके उससे मुकर जाना आसान बहुत है !

Rate this post
Share this with friends

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.