Shayari

Shayari

बदल जाओ वक्त के साथ या फिर वक्त बदलना सीखो,मजबूरियों को मत कोसो हर हाल में चलना सीखो |

Rate this post
Share this with friends

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.