Prernadayak

Prernadayak

परिस्थितियों के गुलाम कभी न बने | प्रयास यह करें कि परिस्थितियां आपके नियंत्रण में रहें |  याद रखें , परिस्थितियों  के छत्ते से निकली मधुमक्खियां दुःख के ही डंक मारती हैं |

Share this with friends