Prernadayak

Prernadayak

आशा का दामन कभी न छोड़ें | आशा ही वह ज्योंति है जो आपकी अंधेरी राहों को प्रकाशित करती है | आशा को अपना साथी बनाएं और हर चीज का उज्जवल पक्ष ही देखें | याद रखेंअंधेरा सदैव निराशा को ही आमंत्रण देता है |

Share this with friends