Prernadayak

Prernadayak

दृढ़ संकल्प एक गढ़ के समान है, जो की  भयंकर प्रलोभन से हमें बचाता है, दुर्बल और डांवाडोल होने से हमारी रक्षा करता है |

Share this with friends