क्रोध को पाले रखना गर्म…

Prernadayak

क्रोध को पाले रखना गर्म कोयले को किसी और पर फेंकने की नीयत से पकड़े रहने के सामान है , इसमें आप ही जलते है |

Rate this post
Share this with friends

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.