Hindi Good Morning Wishes

Hindi Good Morning Wishes

जीतने वाले अलग चीजें नहीं करते, वो चीजों को  अलग तरह से करते हैं|

Share this with friends
Hindi Suvichar

Hindi Suvichar

आप अपना भविष्य नहीं बदल सकते पर आप अपनी आदते बदल सकते है और निश्चित रूप से आपकी आदते आपका […]

Share this with friends
वर्तमान को सबसे

Hindi Morning Quote

वर्तमान को सबसे बेहतरीन पल बनाओ क्योंकि वो वापिस नही आता।

Share this with friends
Hindi Suvichar

Hindi Suvichar

अच्छे काम करते रहिए, चाहे लोग तारीफ करें या ना करें, आधी से ज्यादा दुनिया सोती रहती है, तब भी […]

Share this with friends
Hindi Suvichar

Hindi Suvichar

नसीब जिनके ऊंचे और मस्त होते है, इम्तिहान भी उनके जबरदस्त होते है।”

Share this with friends
>
Hindi Suvichar

Hindi Suvichar

सफलता,असफलता की संभावनाओ के आकलन में समय नष्ट न करे, लक्ष्य निर्धारित करे और कार्य आरम्भ करे।

Share this with friends
Hindi Suvichar

Hindi Suvichar

अगर आप दुनिया से अपने लिए सर्वश्रेष्ठ पाना चाहते है, तो आपको दुनिया की अपना सर्वश्रेष्ठ देना भी होगा।

Share this with friends
Hindi Suvichar

Hindi suvichar

कोई काम कितना ही कठिन क्यों न हो, जिद और दृढ विश्वास से जरुर पूरा किया जा सकता है।

Share this with friends
Hindi Suvichar

Hindi Suvichar

कोई भी पीछे जाकर नई शुरुवात नहीं कर सकता, पर हम सभी नई शुरुवात कर बेहतर अंत कर सकते है […]

Share this with friends
Hindi Suvichar

Hindi Suvichar

हमारी विशालता कभी भी न गिरने में नहीं, बल्कि हर बार गिरने पर फिर उठने में नहित होती है।

Share this with friends
>
Hindi Suvichar

Hindi Suvichar

ऊंचाई की और बढ़े तो कभी भी साथियों की उपेक्षा न करे, नीचे की और जाते समय यही साथी आपकी […]

Share this with friends
Hindi Suvichar

Hindi Suvichar

जीवन वह नही है जिसकी आप चाहत रखते है, अपितु यह तो वैसा बन जाता है, जैसा आप इसे बनाते […]

Share this with friends
Hindi Suvichar

Hindi Suvichar

जब तक आप जो कर रहे है उसे पसंद नहीं करते तब तक आप सफलता नहीं पा सकते।

Share this with friends
Hindi Suvichar

Hindi Suvichar

जब दुनिया यह कहती है कि हार मान लो, तब आशा धीरे से कान में कहती है कि एक बार […]

Share this with friends
Hindi Suvichar

Hindi Suvichar

हमारी समस्या का समाधान केवल हमारे पास है दूसरों के पास तो केवल सुझाव है।

Share this with friends
>
Hindi Suvichar

Hindi Suvichar

उम्मीदों से बंधा एक जिद्दी परिंदा है इंसान जो घायल भी उम्मीदों से है और जिंदा भी उम्मीदों पर है।

Share this with friends
Hindi Suvichar

Hindi Suvichar

तुम पानी जैसे बनो जो अपना रास्ता खुद बनाता है, पत्थर जैसे ना बनो जो दूसरों का भी रास्ता रोक […]

Share this with friends
Hindi Suvichar

Hindi Suvichar

हर दिन अच्छा हो जरूरी नहीं है, लेकिन हर दिन कुछ अच्छा जरूर होता है।

Share this with friends
Suvichar

Hindi Suvichar

अपनी उर्जा को चिंता करने में खत्म करने से बेहतर है, इसका उपयोग समाधान ढूंढने में किया जाए।

Share this with friends
Geeta Updesh

Geeta Updesh

योगस्थः कुरु कर्माणि सङ्गं त्यक्त्वा धनञ्जय |सिद्धयसिद्धयोः समो भूत्वा समत्वं योग उच्यते || अर्थ –  श्री कृष्ण कहते हैं कि […]

Share this with friends
>
Geeta Updesh

Geeta Updesh

उद्धरेदात्मनात्मानं नात्मानमवसादयेत्।आत्मैं ह्यात्मनों बन्धुरात्मैव रिपुरात्मनः ॥ अर्थ –  भगवान कृष्ण जी अर्जुन को बताते हैं कि हे अर्जुन, ये आत्मा […]

Share this with friends
Geeta Updesh

Geeta Updesh

त्रिभिर्गुण मयै र्भावैरेभिः सर्वमिदं जगत।मोहितं नाभि जानाति मामेभ्य परमव्ययम् ॥ अर्थ – भगवान श्री कृष्ण जी अर्जुन से कहते हैं […]

Share this with friends
Geeta Updesh

Geeta Updesh

प्रकृतिम स्वामवष्टभ्य विसृजामि पुन: पुन: ।भूतग्राममिमं कृत्स्नमवशम प्रकृतेर्वशात॥ अर्थ – गीता के चौथे अध्याय और छठे श्लोक में श्री कृष्ण […]

Share this with friends
Geeta Updesh

Geeta Updesh

प्रकृतेः क्रियमाणानि गुणैः कर्माणि सर्वशः ।अहंकारविमूढात्मा कर्ताहमिति मन्यते ॥ अर्थ – श्री कृष्ण जी कहते हैं कि हे पार्थ, इस […]

Share this with friends
Geeta Updesh

Geeta Updesh

पिताहमस्य जगतो माता धाता पितामहः ।वेद्यं पवित्रमोङ्कार ऋक्साम यजुरेव च ॥ अर्थ – श्री कृष्ण अर्जुन जी से कहते हैं […]

Share this with friends
>
Geeta Updesh

Geeta Updesh

परित्राणाय साधूनाम् विनाशाय च दुष्कृताम्।धर्मसंस्थापनार्थाय सम्भवामि युगे युगे॥ अर्थ – श्री कृष्ण जी कहते हैं कि हे अर्जुन, साधू और […]

Share this with friends
Geeta Updesh

Geeta Updesh

न मे पार्थास्ति कर्तव्यं त्रिषु लोकेषु किंचन ।नानवाप्तमवाप्तव्यं वर्त एव च कर्मणि ॥ अर्थ – श्री कृष्ण कहते हैं कि […]

Share this with friends
Geeta Updesh

Geeta Updesh

न हि कश्चित्क्षणमपि जातु तिष्ठत्यकर्मकृत्‌ ।कार्यते ह्यवशः कर्म सर्वः प्रकृतिजैर्गुणैः ॥ अर्थ – ये निश्चित है कि कोई भी मनुष्य, […]

Share this with friends
Geeta updesh

Geeta Updesh

न चैतद्विद्मः कतरन्नो गरियो यद्वा जयेम यदि वा नो जयेयु: |यानेव हत्वा न जिजीविषाम- स्तेSवस्थिताः प्रमुखे धार्तराष्ट्राः || अर्थ – […]

Share this with friends
Geeta Updesh

Geeta Updesh

कर्मजं बुद्धियुक्ता हि फलं त्यक्त्वा मनीषिणः |जन्मबन्धविनिर्मुक्ताः पदं गच्छन्त्यनामयम् || अर्थ – श्री कृष्ण जी कहते हैं कि हे अर्जुन, […]

Share this with friends
>
Geeta Updesh

Geeta Updesh

गतिर्भर्ता प्रभुः साक्षी निवासः शरणं सुहृत्‌ ।प्रभवः प्रलयः स्थानं निधानं बीजमव्ययम्‌॥ अर्थ –  श्री कृष्ण जी कहते हैं कि हे […]

Share this with friends
Geeta Updesh

Geeta Updesh

दुरेण ह्यवरं कर्म बुद्धियोगाद्धञ्जयबुद्धौ शरणमन्विच्छ कृपणाः फलहेतवः || अर्थ – श्री कृष्ण जी अर्जुन से कहते हैं कि हे पार्थ […]

Share this with friends
Geeta Updesh

Geeta Updesh

बहूनि में व्यतीतानि जन्मानि तव चार्जुन।तान्यहं वेद सर्वाणि न त्वं वेत्थ परंतप॥ अर्थ – श्री कृष्ण जी कहते हैं कि […]

Share this with friends
Geeta Updesh

Geeta Updesh

अनाश्रित: कर्मफलम कार्यम कर्म करोति य:।स: संन्यासी च योगी न निरग्निर्ना चाक्रिया:।। अर्थ – श्री कृष्ण जी कहते हैं कि […]

Share this with friends