Shayari In Hindi

नज़रे मिले तो प्यार हो जाता है !
पलके उठे तो इजहार हो जाता है !
ना जाने क्या कशिश है चाहत मैं !
की कोई अंजान भी हमारी जिंदगी का हकदार हो जाता है।

Nazare mile to pyaar ho jaata hai !
Palake uthe to ijahaar ho jaata hai !
Na jaane kya kashish hai chaahat main !
Kee koee anjaan bhee hamaaree jindagee ka hakadaar ho jaata hai.

तेरे बिना टूटकर बिखर जाएंगे,
तुम मिल गए तो गुलशन की तरह खिल जाएंगे,
तुम ना मिले तो जीते जी मर जाएंगे,
तुम्हें पा लिया तो मरकर भी जी जाएंगे।

Tere Bina Tutkar Bikhar Jayenge,
Tum Mil Gaye To Gulshan Ki Tarah Khil Jayenge,
Tum Na Mile To Jite Ji Mar Jayenge,
Tumhe Paa Liya To Mrkar Bhi Jee Jayenge.

सुकून मिलता है जब उनसे बात होती है,
हज़ार रातों में वो एक रात होती है,
निगाह उठाकर जब देखते हैं वो मेरी तरफ,
मेरे लिए वो पल पूरी कायनात होती है।

Sukun Milta Hai Jab Unse Baat Hoti Hai,
Hajaar Raaton Mein Woh Ek Raat Hoti Hai,
Nigah Uthakar Jab Dekhte Hain Woh Meri Taraf,
Mere Liye Wohi Pal Poori Kaaynat Hoti Hai.

आग लगी दिल में जब वो खफ़ा हुए,
एहसास हुआ तब, जब वो जुदा हुए,
करके वफ़ा वो हमे कुछ दे न सके,
लेकिन दे गये बहुत कुछ जब वो बेवफा हुए।

Aag lagee dil mein jab vo khafa hue,
Ehasaas hua tab, jab vo juda hue,
Karake vafa vo hame kuchh de na sake,
Lekin de gaye bahut kuchh jab vo bevapha hue.

किसी न किसी को किसी पर एतवार हो जाता है,
एक अजनबी सा चेहरा ही यार हो जाता है,
खूबियों से ही नही होती मोहब्बत सदा,
किसी की कमियों से भी कभी प्यार हो जाता है।

kisee na kisee ko kisee par etavaar ho jaata hai,
Ek ajanabee sa chehara hee yaar ho jaata hai,
khoobiyon se hi nahi hoti mohabbat sada,
kisee ke kamiyon se bhi kabhee pyaar ho jaata hai.

जाने उस शाख्स को कैसे ये हुनर आता है,
रात होती है तो आंखो में उतर आता है,
मैं उस के ख्यालो से बच के कहा जाऊं,
वो मेरी सोच के हर रास्ते पे नज़र आता है।

Jane Us Shakhs Ko Kaise Ye Hunar Aata Hai,
Raat Hoti Hai To Aakho Me Utar Aata Hai,
Main Us Ke Khayalo Se Bach Ke Kahan Jaaun,
Wo Meri Soch Ke Har Raste Pe Najar Aata Hai.

उसकी मोहब्बत का सिलसिला भी,
क्या अजीब सिलसिला था,
अपना बनाया भी नहीं और,
किसी का होने भी ना दिया।

Uski Mohabbat Ka Silsila Bhi,
Kya Ajeeb Silsila Tha,
Apna Banaya Bhi Nahi Aur,
Kisi Ka Hone Bhi Na Diya.

दिल का हाल बताना नही आता,
हमे ऐसे किसी को तड़पाना नही आता,
सुनना तो चाहतें हैं हम उनकी आवाज़ को,
पर हमे कोई बात करने का बहाना नही आता।

Dil ka haal bataana nahee aata,
Hame aise kisee ko tadapaana nahee aata,
Sunana to chaahaten hain ham unakee aavaaz ko,
Par hame koee baat karane ka bahaana nahee aata.

हर कदम हर पल हम आपके साथ है,
भले ही आपसे दूर सही, लेकिन आपके पास हैं,
जिंदगी में हम कभी आपके हो या न हों,
लेकिन हमे आपकी कमी का हर पल एहसास हैं।

har kadam har pal ham aapake saath hai,
bhale hee aapase door sahee,
lekin aapake paas hain,
jindagee mein ham kabhee aapake ho ya na hon,
lekin hame aapakee kamee ka har pal ehasaas hain.

इश्क करती हूँ तुझसे अपनी जिंदगी से ज्यादा,
मैं डरतीं हूँ मौत से नही तेरी जुदाई से ज्यादा,
चाहे तो हमे आज़मा कर देख किसी और से ज्यादा,
मेरी जिंदगी में कुछ नही तेरी आवाज़ से ज्यादा।

ishk karatee hoon tujhase apanee jindagee se jyaada,
main darateen hoon maut se nahee teree judaee se jyaada,
chaahe to hame aazama kar dekh kisee aur se jyaada,
meree jindagee mein kuchh nahee teree aavaaz se jyaada.

कभी संभले तो कभी बिखर गए,
अब तो खुद में ही सिमट गए,
यूं तो जमाना खरीद नहीं सकत हमें,
मगर प्यार के दो लफ्जों से बिक गए।

Kabhi Sambhle Toh Kabhi Bikhar Gaye,
Ab Toh Khud Mein Hi Simat Gaye,
Yun Toh Jamana Khareed Nahi Sakta Hamein,
Magar Pyaar Ke Do Lafzon Se Bik Gaye.

तुझे देखा तो सारा जहां रंगीन नजर आता है,
तेरे बिना दिल को चैन कहा आता है,
तुम ही हो मेरे दिल की धरकन,
तेरे बिना ये संसार सुना सुना नज़र आता है।

Tujhe Dekhu To Sara Jaha Rangeen Nazar Aata Hai,
Tere Bina Dil Ko Chain Kaha Aata Hai,
Tum Hi Ho Mere Dil Ki Dharkan,
Tere Bina Ye Sansar Suna Suna Nazar Aata Ha.

जब खामोश निगाहों से बात होती है,
तो ऐसे ही मोहब्बत की शुरुआत होती है,
हमतो बस खोये ही रहतें हैं उनके ख्यालों में,
पता ही नही चलता कब दिन कब रात होती है।

jab khaamosh nigaahon se baat hotee hai,
to aise hee mohabbat kee shuruaat hotee hai,
hamato bas khoye hee rahaten hain unake khyaalon mein,
pata hee nahee chalata kab din kab raat hotee hai.

हकीकत कहो तो उन्हें ख्वाब लगता है,
शिकवा करो तो उन्हें मज़ाक लगता है,
कितनी शिद्दत से हम उन्हें याद करते हैं,
और एक वो हैं जिन्हें ये सब मजाक लगता है।

hakeekat kaho to unhen khvaab lagata hai,
shikava karo to unhen mazaak lagata hai,
kitanee shiddat se ham unhen yaad karate hain,
aur ek vo hain jinhen ye sab majaak lagata hai.

तेरी मोहब्बत ने हमे बेनाम कर दिया,
हमे हर ख़ुशी से अंजान कर दिया,
हमने तो कभी नही चाहा था हमे मोहब्बत हो,
लेकिन उसकी पहली नज़र ने हमे नीलाम कर दिया।

teree mohabbat ne hame benaam kar diya,
hame har khushee se anjaan kar diya,
hamane to kabhee nahee chaaha tha hame mohabbat ho,
lekin usakee pahalee nazar ne hame neelaam kar diya.

इस नजर ने उस नजर से बात करली,
रहे खामोश मगर फिर भी बात करली,
जब मोहब्बत की फ़िज़ा को खुश पाया,
तो दोनों निगाहों ने रो रो कर बरसात करली।

Is najar ne us najar se baat karalee,
rahe khaamosh magar phir bhee baat karalee,
jab mohabbat kee fiza ko khush paaya,
to donon nigaahon ne ro ro kar barasaat karalee.

फर्क होता है खुदा और फकीर में,
फर्क होता है किस्मत और लकीर में,
अगर कुछ चाहो और न मिले तो समाज लेना की,
कुछ और अच्छा लिखा है तकदीर में।

Fark Hota hai khuda aur Fakir me,
Fark hota hai kismat aur Lakir me,
Agar kuch Chaho Aur na Mile To samaj Lena ki,
kuch aur Accha Likha hai Takdir me.

सर झुकने की आदत नहीं है,
आंसू बहाने की आदत नहीं है,
हम खो गए तो पछताओगे बहुत,
क्यों की हमें लौट के आने की आदत नहीं है।

Sar Jhukane Ki Aadat Nahi Hai,
Aansu Bahane Ki Aadat Nahi Hai,
Hum Kho Gaye To Pachtaoge Bahut,
Kyun ki Hame Laut Ke Aane Ki Aadat Nahi Hai

खाता हो गई तो सजा बता दो,
दिल में इतना दर्द क्यों है वजह बता दो,
देर हो गई है याद करने में जरूर,
लेकिन तुमको भुला देंगे ये ख्याल दिल से मिटा दो।

Khata Ho Gayi To Saja Bata Do,
Dil Me Itna Dard Kyu Hai Wajah Bata Do,
Der Ho Gayi Hai Yaad Karne Me Jarur,
Lekin Tumko Bhula Denge Ye Khayal Dil Se Mita Do.

अपनी जिंदगी का अलग उसूल है,
प्यार की खातिर तो कांटे भी कुबूल है,
हंस के चल दू कांच के टुकड़े पर,
अगर प्यार कहे ये मेरे बिछाये हुए फूल है।

Apni zindagi ka alag usool hain,
Pyar ki khatir to kante bhi qubool hai,
Hans ke chal du kaanch ke tukdo par,
Agar pyar kahe ye mere bichaye hue phool hai.

तू तोड़ दे वो कसम जो तूने खाई है,
कभी कभी याद करने में क्या बुराई है,
तुझे याद किये बिना रहा भी तो नही जाता,
तूने दिल में जगह जो ऐसी बनाई है।

too tod de vo kasam jo toone khaee hai,
kabhee kabhee yaad karane mein kya buraee hai,
tujhe yaad kiye bina raha bhee to nahee jaata,
toone dil mein jagah jo aisee banaee hai.

बिखरे है अश्क कोई साज नही देता,
खामोश है सब कोई आवाज नही देता,
कल के वादे सब करते है,
मगर क्यू कोई साथ आज नही देता।

Bikhare hai ashk koee saaj nahee deta,
Khaamosh hai sab koee aavaaj nahee deta,
Kal ke vaade sab karate hai,
Magar kyoo koee saath aaj nahee deta.

किस्मत यह मेरा इम्तेहान ले रही है,
तड़पा कर यह मुझे दर्द दे रही है,
दिल से कभी भी मैंने उसे दूर नहीं किया,
फिर क्यों बेवफाई का वह इलज़ाम दे रही है।

Kismat Yah Mera Imtehaan Le Rahi Hai,
Tadap Kar Yah Mujhe Dard De Rahi Hai,
Dil Se Kabhi Bhi Mainne Use Door Nahi Kiya,
Phir Kyon Bewfai Ka Woh Ilazaam De Rahi Hai.

वापस लौट आया है हवाओं का रुख मोड़ने वाला,
दिल में फिर उतर रहा है दिल तोड़ने वाला।

Wapas Laut Aaya Hai Hawaon Ka Rukh Modne Wala,
Dil Me Fir Utar Raha Hai Dil Todne Wale.

दुख में खुशी की वजह बनती है मोहब्बत,
दर्द में यादों की वजह बनती है मोहब्बत,
जब कुछ भी अच्छा नहीं लगे दुनिया में,
उस वक्त जीने की वजह बनती है मोहब्बत।

Dukh Mein Khushi Ki Wajah Banti Hai Mohabbat,
Dard Mein Yaadon Ki Wajah Banti Hai Mohabbat,
Jab Kuchh Bhi Achha Nahin Lage Duniya Mein,
Uss Waqt Jeene Ki Wajah Banti Hai Mohabbat.

बहता हुआ पानी यहा खिलते हुए फूल, सोचा किनारे पर बैठकर तो पता चला दुनिया में हम भी नहीं है बेहफजूल.

Behta hua pani yha khilte hue phool, Socha kinare per bethkar to pata chala duniya mein hum bhi nahi hai behphajul.

आरज़ू के दीए दिल में जलते रहेंगे,
मेरी आँखों से आंसू निकलते रहेंगे,
दिल में रौशनी तो करो तुम शमा बन के,
मोम बनकर हम यूं ही पिघलते रहेंगे।

Aarzoo Ke Deeye Dil Mein Jalte Rahenge,
Meri Aankhon Se Aansoo Nikalte Rahenge,
Dil Mein Roshani To Karo Tum Shama Ban Ke,
Mom Bankar Hum Yoon Hi Pighalte Rahenge.

आपकी परछाई हमारे दिल में है,
आपकी यादें हमारी आँखों में हैं,
आपको हम भुलाएं भी कैसे,
आपकी मोहब्बत हमारी सांसो में हैं।

Apki parchhae humare mein hain,
Apki yaade humare ankhon mein hai,
Apko hum bhulay bhi kaise,
Apki mohabbat humare sanso mein hain.

तेरी आँखों में डूब जाने का दिल चाहता है,
वफ़ा पर तेरी बर्बाद हो जाने का दिल चाहता है,
कोई सम्भाले हमे, बहक रहे हैं कदम,
तेरे इश्क में मर जाने का दिल चाहता है।

teree aankhon mein doob jaane ka dil chaahata hai,
vafa par teree barbaad ho jaane ka dil chaahata hai,
koee sambhaale hame, bahak rahe hain kadam,
tere eshk mein mar jaane ka dil chaahata hai.

जब किसी की रूह में उतर जाता है मोहब्बत का समंदर, 
तब लोग जिन्दा तो होते हैं, लेकिन किसी और के अंदर।

jab kisi kee rooh mein utar jaata hai mohabbat ka samandar,
tab log jinda to hote hain, lekin kisee aur ke andar.

तेरी मोहब्बत का ये कितना खूबसूरत एहसास है,
अब तो मुझे लगता है हर पल की तू मेरे कहीँ आस पास है।

Teree mohabbat ka ye kitana khoobasoorat ehasaas hai,
Ab to mujhe lagata hai har pal kee too mere kaheen aas paas hai.

कुछ देर का इंतज़ार मिला हमको,
पर सबसे प्यारा यार मिला हमको,
तेरे बाद किसी और की ख्वाइश न रही,
क्योंकि तेरे प्यार से सब कुछ मिला हमको।

kuchh der ka intazaar mila hamako,
par sabase pyaara yaar mila hamako,
tere baad kisee aur kee khvaish na rahee,
kyonki tere pyaar se sab kuchh mila hamako.

जमाने से नहीं हम तन्हाई से डरते हैं,
प्यार से नहीं हम रुसवाई से डरते हैं,
दिल में उमंग है तुझसे मिलने की,
पर मिलने के बाद आने वाली जुदाई से डरते हैं।

Zamane se nahin hum tanhai se darte hain,
Pyar se nahin hum rusvayee se darte hain,
Dil mein umang hai tujhse milne ki,
Par milne ke baad aane wali judaai se darte hain.

मन की किस्मत पे मेरा कोई ज़ोर नहीं,
पर ये सच है कि मोहब्बत मेरी कमजोर नहीं,
उसके दिल में, उसकी यादों में कोई और है लेकिन,
मेरी हर सांस में उसके सिवा कोई और नहीं!

Mana ki kismat pe mera koi zor nahi,
Par ye sach hai ki mohabbat meri kamjor nahi,
Us ke dil mein, uski yaadon mein koi aur hai lekin,
Meri har saans mein uske siwaa koi aur nahi!

उतार के देख मेरी चाहत की गहराई में,
सोचना मेरे नंगे में रात की तन्हाई में,
अगर हो जाए मेरी चाहत का एहसास तुम्हारे,
तो मिलेगा मेरा अक्स तुम्हें अपनी ही परछाई में।

Utar ke dekh meri chahat ki gehrai mein,
Sochna mere bare mein raat ki tanhai mein,
Agar ho jaye meri chahat ka ehsas tumhein,
To milega mera aks tumhein apni hi parchhai mein.

ऐ मुकद्दर के सिकन्दर मुझ पर एक एहसान करना,
मेरे दोस्त के मुकद्दर में सिर्फ मुस्कान लिखना,
दर्द की परछाई भी उस पर न पड़े,
चाहे तो उसके मुकद्दर में मेरी जान लिखना।

A mukaddar ke sikandar mujh par ek ehasaan karana,
mere dost ke mukaddar mein sirph muskaan likhana,
dard kee parachhaee bhee us par na pade,
chaahe to usake mukaddar mein meree jaan likhana.

दोस्ती का रिश्ता वो होता है जो दो अंजानो को जोड़ देता है,
ज़िन्दगी कुछ भी हो पर रास्ता मोड़ देता है,
सच्चा दोस्त वही कहलाता है,
जब अपनी परछाई भी साथ छोड़ दे पर साथ सिर्फ दोस्त देता है।

dostee ka rishta vo hota hai jo do anjaano ko jod deta hai,
zindagee kuchh bhee ho par raasta mod deta hai,
sachcha dost vahee kahalaata hai,
jab apanee parchhaee bhi saath chhod de par saath sirf dost deta hai.

हम वो है जो दोस्ती पर अपनी ज़िन्दगी लुटा देते है,
हम तो अपनी सारी खुशियां वार देते है,
हमसे दोस्ती में बहुत गहराई से कोई वादा करना,
क्यूंकि किसी भी वादे पर हम अपनी पूरी ज़िन्दगी गुजार देते हैं।

ham vo hai jo dostee par apanee zindagee luta dete hai,
ham to apanee saaree khushiyaan vaar dete hai,
hamase dostee mein bahut gaharaee se koee vaada karana,
kyoonki kisee bhee vaade par ham apanee pooree zindagee gujaar dete hain.

क्यों वादा करके निभाना भूल जाते हैं,
लगा कर आग फिर वो बुझाना भूल जाते हैं,
ऐसी आदत हो गई है अब तो सनम की,
रूलाते तो है मगर मनाना भूल जाते हैं।

Kyun wada Karke Nibhana Bhool Jate Hain,
Laga Kar Aag Fir Wo Bujhana Bhool Jate Hain,
Aisi Aadat Ho Gayi Hai Ab To Sanam Ki,
Rulate To Hain Magar Manana Bhool Jate Hain.

जो जाहिर करना पड़े वो दर्द कैसा, और जो दर्द न समजे वो हमदर्द कैसा।

jo jaahir karana pade vo dard kaisa, aur jo dard na samaje vo hamadard kaisa.

” ना हार चाहिए “
” ना जीत चाहिए “
जीवन मे अच्छी सफलता के लिए परिवार और कुछ मित्र का साथ चाहिऐ।

“Na haar chahiye”
“Na jeet chahiye”
Jeevan me achchhi saphalata ke liye parivaar aur kuchh mitr ka saath chahiye.